Raksha bandhan Kyu Manate hai and Rakshabandhan Quotes in Hindi

हिन्दू धर्म मे त्योहारों और धार्मिक अनुष्ठानों का विशेष महत्व है पूरे वर्ष प्रत्येक दिन कोई न कोई धार्मिक अनुष्ठान किए जाते है,यहाँ कई पर्व त्योहारों का विशेष महत्व भी है । Raksha bandhan Kyu Manate hai,Raksha bandhan Quotes in Hindi ,राखी बांधने का शुभ मुहूर्त क्या है ,रक्षाबंधन कब है ,Raksha bandhan 2022 ,Raksha bandhan kab hai

Wish You a very Happy Rakshabandhan

इन्ही महत्वपूर्ण पर्व त्योहारों मे एक पर्व है जिसे रक्षाबंधन कहा जाता है जिसमे लोग अपने रिश्ते को मजबूत और कामयाब होने की दुआ भी करते है और जीवन भर रिश्ते निभाने की कामना भी करते है ।

रक्षाबंधन क्यूँ मनाया जाता है

रक्षाबंधन के इस खूबसूरत मौके पर हर भाई बहन एक दूसरे को Wishes भेजते है ऐसे ही कुछ बेहतरीन Wishes images बेहतरीन Quotes के साथ जिसे आप भाई बहन एक दूसरे को Whatsaap, Facebook, Instagram, Twitter जैसे अन्य Social Media के जरिये भेज सकते है लेकिन उससे पहले रक्षाबंधन के बारे मे कुछ रोचक और महत्वपूर्ण जानकारी पढ़ लें ।
रक्षाबंधन हिन्दू धर्म मे मनाया जाने वाला महत्वपूर्ण पर्वों मे एक है इसमे बहन अपने भाई के लंबी उम्र की कामना करती है और भाई जीवन भर अपनी बहन की रक्षा करने का वादा करता है । 
ये पर्व हर वर्ष श्रावण महीने के अंतिम सोमवार और सावन के पुर्णिमा के दिन मनाई जाती है , भारत के अलावा इससे नेपाल,मोरिसस और दूसरे भारतीय संस्कृति से जुड़े लोग मनाते है । इस पर्व की खाशीयत यह है की इसे सिर्फ हिन्दू ही नहीं बल्कि अन्य दूसरे धर्म के भी लोग धूम धाम से मानते है । 
  • रक्षाबंधन ही ऐसा पर्व है जिसे सिर्फ भाई बहन के अलावा गुरु शिष्य भी मनाते है । 
  • रक्षाबंधन मे बहन अपनी भाई के दाई कलाई मे एक धागा बांधती है जिसे राखी कहा जाता है और गुरु अपने शिष्य को राखी या अन्य सूती के धागे बांध कर शिष्य के उज्ज्वल भविष्य का आशीर्वाद देते है ।
  • बहन के शादी के बाद अक्सर बहन भाई को राखी बांधने अपने मायके जाती है राखी के बहाने बहन को परिवार के अन्य सदस्यों के मिलने का मौका मिल जाता है ।
  • इस पर्व को श्रावणी ,सलूनों के नाम से भी जाना जाता है । भारत के महाराष्ट्र मे रक्षाबंधन को नारियल पुर्णिमा के नाम से जाना जाता है ।

रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त

Raksha bandhan kab hai

  • सावन मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को सुबह 10 बजकर 38 मिनट पर शुरू हो रही है, जो 12 अगस्त को सुबह 07 बजकर 06 मिनट तक रहेगी। लेकिन सावन पूर्णिमा शुरू होते है भद्रा भी लग जा रही है जो 11 अगस्त को रात 8 बजकर 35 मिनट तक रहेगी।
  • ऐसे में अगले दिन यानी 12 जुलाई को भद्रा भी नहीं रहेगा और उदया तिथि के अनुसार पूरे दिन पूर्णिमा तिथि का मान रहेगा इसलिए 12 जुलाई को राखी का त्योहार माना सभी के लिए शुभ रहेगा।
  • 12 जुलाई को दोपहर 2 बजे तक आयुष्मान योग रहेगा जिसमें बहनों भाई को दीर्घायु का आशीर्वाद देंगी तो यह अधिक फलदायी होगा। 2 बजे के बाद इस दिन सौभाग्य योग लग जाएगा।

रक्षा बंधन राखी बांधने का मंत्र

येन बद्धो बलि राजा, दानवेन्द्रो महाबल: तेन त्वाम् प्रतिबद्धनामि रक्षे माचल माचल:।

रक्षा बंधन सिंदूर, रोली चंदन लगाने का मंत्र

“सिन्दूरं सौभाग्य वर्धनम, पवित्रम् पाप नाशनम्। आपदं हरते नित्यं, लक्ष्मीस्तिष्ठति सर्वदा॥

 

रक्षाबंधन से जुड़े कुछ Quotes Images दिये जा रहे है जिसे आप Social Media पर Share कर सकते है । 

Raksha bandhan Hindi Quotes

 
Raksha bandhan kab hai
Download this image
Download this image


Download this image
Download This image

 

Download this image
Download this image
Download this image
Download this image

 

Download this image

हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x