Adhaar Enrollments center now Available only on Government Administrative building

दोस्तो अगर आप आधार पंजीकरण के लिए अपने शहर मे पंजीकरण केंद्र ढूंढ रहे है या फिर आधार पंजीकरण केंद्र खोलना चाहते है तो आपको ये जानना आवश्यक है की Unique Identification Authority of India(UIDIA) ने September 2017 से सभी पंजीकरण केंद्र सरकारी भवन मे खोलने का निर्देश दे दिया है ।

Table of Contents

 

अगर आप आधार पंजीकरण करवाना चाहते है तो आपको सरकारी भवन जैसे नगर निगम, सरकारी अस्पताल, जिला परिषद जैसे विभागीय भवन मे जाना होगा जहां निःशुल्क आधार पंजीकरण किया जाएगा ।
और अगर आप आधार पंजीकरण केंद्र खोलना चाहते है तो ये ख्याल को आज ही बदल दीजिये क्यौंकी सरकार September 2017 से किसी भी निजी Agency को पंजीकरण की अनुमति नहीं देगी । 

 

1 July 2017 को UIDIA ने सभी सरकारी और निजी Agency को ये निर्देश दिया की 31 August 2017  तक वे अपने सभी केन्द्रो को नगरपालिका के परिसर मे शिफ्ट कर दे ।

भारत मे वर्तमान मे तकरीबन 25000 चालू पंजीकरण केंद्र है जिसे अब UIDIA अपने दिशा निर्देश पर चलाएगी । आधार पंजीकरण को लेकर लोगो से निजी कंपनी के ऑपरेटर के द्वारा ली जा रही शुल्क को रोकने के लिए ये कदम उठाया गया है ।

UIDIA के CEO अजय भूषण पांडे  ने सभी राज्यो को 31 july तक अपने जिलों के सभी केन्द्रो को सूचित करने का निर्देश दे दिया है और ये भी कहा है की 31 August 2017 तक सभी केंद्र सरकारी भवन जैसे नगर निगम,  जिला परिषद, जिला समाहरणालय  इसके आलवे ये पंजीकरण केंद्र बैंक पंचायत प्रखण्ड कार्यालय मे भी डाले जा सकते है ।

 

अजय भूषण पांडे ने बताया की आए दिन लोगो की ये शिकायत रहती थी की निजी पंजीकरण केंद्र जरूरत परने पर बंद रहती है और पंजीकरण के लिए ऑपरेटर मनमाना पैसा वसूलते है ।

 

इसलिए ये फैसला लिया गया की ये केंद्र अब सरकारी भवन मे होंगे और ऑपरेटर UIDIA द्वारा वेतन पर नियुक्त किए जाएंगे । इन केन्द्रो का संचालन सीधे यूआईडीआईए की टीम करेगी ।

28 जून को सभी राज्यो के सचिव को ये निर्देश दे दिया गया है की सभी केन्द्रो को राज्य सरकार अपने अंदर लेकर उसे संचालित करे और प्रत्येक प्रखण्ड या पंचायत मे 3 Center लगाए जाए और आगे जरूरत के अनुसार इसे बढ़ाया जाय

 

Source – News Portal 

 
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x