Special Day

Mahatma Gandhi Jayanti 2022: Speech for School Children

हम हर वर्ष महात्मा गांधी का जन्मदिवस मनाते है और प्रत्येक वर्ष पूज्य बाबू को याद कर उनके उपदेशों और संदेशों को अपने जीवन मे ढालने का प्रण करते है , पूज्य बाबू महात्मा गांधी की जयंती हर वर्ष 2 October को मनाई जाती है इस शुभ अवसर पर पूरे भारत मे राष्ट्रीय अवकाश रहता है और कई जगह सांस्कृतिक कार्यक्र्म भी आयोजित किए जाते है इसके आलवे कुछ स्कूल Collages मे भाषण प्रतियोगिता भी आयोजित की जाती है , तो आइए पूज्य बापू के जन्मदिवस पर महातम गांधी के बारे मे कुछ रोचक जानकारी जो आपके भाषण की तैयारी के लिए बेहद आवश्यक होगी – गांधी जयंती पर भाषण हिन्दी मे – Gandhi Jayanti Speech in Hindi , Gandhi Jayanti speech 2022 ,गांधी जयंती पर विशेष भाषण





भारत मे हर वर्ष 2 October को गांधी जयंती मनाई जाती है । भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी दिलाने मे अहम भूमिका निभाने वाले मोहनदास करमचंद गांधी यानि महात्मा गांधी का जन्म 2 October 1869 को गुजरात के पोरबंदर मे हुया ,यानि इस वर्ष भारत मे महात्मा गांधी की 151वी जयंती मनाई जाएगी । सत्य और अहिंसा को लेकर बापू के विचार हमेशा से न सिर्फ भारत, बल्कि पूरी दुनिया का मार्गदर्शन करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। उन्हीं के विचारों के सम्मान में 2 अक्टूबर को हर साल अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस भी मनाया जाता है।

Gandhi Jayanti speech in hindi

गांधी जयंती पर भाषण

आदरणीय अध्यापकगण और मेरे प्यारे साथियों…

आज 2 अक्टूबर है और न सिर्फ पूरा हिन्दुस्तान, बल्कि पूरी दुनिया 153वीं गांधी जयंती मना रहे हैं। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। उनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। इन्हे लोग प्यार से बापू भी कहते थे ।

बापू ने भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी दिलाने के लिए अपना पूरा जीवन न्योछावर कर दिया इनकी सोच और अहिंसावादी विचारधारा के आगे अंग्रेजों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया । इनके अहिंसा के सिद्धांतों को पूरा विश्व ले लोहा माना इसलिए आज के ही दिन हर वर्ष पूरे दुनिया मे 2 October को विश्व अहिंसा दिवस के रूप मे मनाया जाता है । महात्मा गांधी के विचार पूरे भारत मे ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के लोगों का मार्गदर्शन करते रहेंगे । महात्मा गांधी की महानता, उनके कार्यों व विचारों के कारण ही 2 अक्टूबर को स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस की तरह राष्ट्रीय पर्व का दर्जा दिया गया है।

उनकी सबसे बड़ी बात ये थी वे हमेसा लोगों से ये कहते की आप कभी भी हिंसा के राह पर चल कर अपने मंजिल व अधिकार को हासिल नहीं कर पाएंगे । हिंसा के विरोध मे पूज्य बापू ने अनेकों आंदोलन किए और उसमे सफलता भी हासिल की,महात्मा गांधी ने लंदन में कानून की पढ़ाई की थी। देश को गुलामी की जंजीरों से बाहर निकालने में गाँधी जी का योगदान जगत विदित हैं. अहिंसा परमो धर्म के सिद्धान्त पर चलकर इन्होने देश को एक जुट करके आजादी की लड़ाई में हिस्सा लेने की प्रेरणा दी

लंदन से बैरिस्टर की डिग्री हासिल कर उन्होंने बड़ा अफसर या वकील बनना उचित नहीं समझा, बल्कि अपना पूरा जीवन देश के नाम समर्पित कर दिया। उन्होंने लंदन में कानून की पढ़ाई की लेकिन लंदन से बैरिस्टर की डिग्री हासिल करने के बाद भी उन्होंने खादी पहनकर देश का भ्रमण किया और आजादी में अपना अमूल्य योगदान दिया। आज हमें गांधी जैसे नेताओं की आवश्यकता है।

चंपारण सत्याग्रह, असहयोग आंदोलन, दांडी सत्याग्रह, दलित आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन उनके कुछ प्रमुख आंदोलन ने जिन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य की नींव कमजोर करने में बड़ा रोल अदा किया।
गांधी जी समाज मे होने वाले जात पात के खिलाफ भी हमेसा आवाज उठाते रहे ,नारी सशक्तिकरण को लेकर भी उनकी आवाज काफी बुलंद रही ।

साथियों! यह बात सही है कि हम सभी गांधीजी का काफी सम्मान करते हैं। लेकिन उनके सपने तो सभी पूरे होंगे जब हम उनके बताए शांति, अहिंसा, सत्य, समानता, महिलाओं के प्रति सम्मान जैसे आदर्शों पर चलेंगे।

तो आज पूज्य बापू के 153वी जयंती के पावन अवसर पर हमें उनके विचारों को अपने जीवन में उतारने का संकल्प लेना चाहिए। धन्यवाद। जय हिन्द!

इस प्रकार आप गांधी जयंती के अवसर पर छोटे भाषण की तैयारी कर सकते है । आगे इस आर्टिक्ल मे आप गांधी जी के कुछ अनमोल संदेश और उपदेशों को पढ़ेंगे ।

Mahatma Gandhi Quotes

महात्मा गांधी के अनमोल वचन

  • आजादी का कोई अर्थ नहीं है यदि इसमें गलतियां करने की आजादी शामिल न हों।
  • डर शरीर का रोग नहीं है, यह आत्मा को मारता है।
  • उफनते तूफ़ान को मात देना है तो अधिक जोखिम उठाते हुए हमें पूरी शक्ति के साथ आगे बढ़ना होगा।
  • जिस दिन एक महिला रात को स्वतंत्र रूप से बिना डरे चल पाएगी उस दिन समझ जानना की भारत किसी का गुलाम नहीं हो सकता ।
  • एक विनम्र तरीके से आप दुनिया को हिला सकते है ।
  • थोड़ा सा अभ्यास बहुत सारे उपदेशों से बेहतर है ।
  • हमारा भविष्य इस बात पर निर्भर करता है की आप वर्तमान मे क्या कर रहे है ।
  • कमजोर कभी माफी नहीं मांगता क्षमा करना तो एक ताकतवर इंसान की पहचान है ।
  • पृथ्वी सभी मनुष्यों की ज़रुरत पूरी करने के लिए पर्याप्त संसाधन प्रदान करती है, लेकिन लालच पूरी करने के लिए नहीं।
  • स्वतंत्रता एक जन्म की भांति है। जब तक हम पूर्णतः स्वतंत्र नहीं हो जाते तब तक हम परतंत्र ही रहेंगे ।
  • अहिंसा केवल आचरण का स्थूल नियम नहीं,बल्कि मन की वृत्ति है,जिस वृत्ति में कहीं भी द्वेष की गंध तक नहीं रहती,वह अहिंसा है।
  • ऐसे जिए जैसे कि आपको कल मरना है,और सीखें ऐसे जैसे आपको हमेशा जीवित रहना है।

FAQ

Q : गांधी जयंती कब मनाई जाती है ?

Ans : 2 अक्टूबर को

Q : गांधी जी की सन 2022 में कौन सी जन्मतिथि है ?

Ans : 153 वीं

Q : गांधी जी की मृत्यु कब और कैसे हुई ?

Ans : 30 जनवरी 1948 को हत्या की गई थी.

Q : गांधी जी की हत्या किसने और क्यों की ?

Ans : नाथूराम गोडसे ने की थी ।

Q : विश्वा अहिंसा दिवस कब मनाया जाता है ।

Ans: गांधी के जन्मदिवस 2 October को विश्व अहिंसा दिवस मनाया जाता है ।



इसे भी पढे

 

Knowledge Panel

मेरा नाम अंगेश उपाध्याय है मैं Knowledge Panel का Author और एक Professional Blogger हूँ, इस ब्लॉगिंग वेबसाइट मे आप ब्लॉगिंग ,नई तकनीक, ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके और अन्य कई तरह की जानकारी हिन्दी मे प्राप्त कर सकते है । हमारा मकसद आपको बेहतर जानकारी देना है इसलिए यहाँ आपको वो जानकारी मिलेगी जिसे जानना जरूरी हो ।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x