Mother’s Day kiyu Manate hai । Mother’s Day Celebration

Hello friends इस खूबसूरत धरती पर ईश्वर द्वारा बनाई गई सबसे बेहतरीन बनावट मे माँ का स्थान सबसे ऊपर है क्यूंकि माँ ही इस प्रकृति का आधार है इस Nature की बनावट की शिल्पकार अगर कोई है तो वो माँ है । आइये उस माँ के सम्मान मे इस Mother’s Day अपना आदर समर्पित करें धरती के शिल्पकर को ।



Mother’s Day धरती के हर माँ के सम्मान और पारिवारिक संबंध को मजबूत करने के पूरे दुनिया मे माया जाता है  Mother’s Day दुनिया के हर देशो मे अलग अलग Date मे मनाया जाता है ज़्यादातर ये March से May के बीच मनाया जाता है ।

Mother’s Day falls on different dates depending on the countries where it is celebrated. It is held on the second Sunday of May in many countries.

माना जाता है की इसकी शुरुआत पुराने ग्रीस युग मे हुई थी उस वक्त Cybele जो ग्रीक देवताओं की माँ थी उनके सम्मान के लिए उनकी पुजा अर्चना की जाती थी उस वक्त से ही मातृ पुजा और मातृ दिवस की शुरुआत हुई ।

प्राचीन रोम वासी मे भी ऐसे कई प्रथा प्रचलित थी जिसमे माताओं को उपहार दी जाती थी ।Europe और Britain जैसे देशों मे कई प्रचलित परम्पराएं हैं जहां एक Special Sunday को Motherhood and Mothers को सम्मानित किया जाता हैं जिसे Mothering Sunday कहा जाता था। Mothering Sunday लितुर्गिकल कैलेंडर का हिस्सा है, जो कई ईसाई उपाधियों और कैथोलिक कैलेंडर में लेतारे सन्डे, चौथे रविवार लेंट में वर्जिन मेरी और “Mother Church” को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता हैं।

परम्परानुसार इस दिन प्रतीकात्मक उपहार देने तथा कुछ परम्परागत महिला कार्य जैसे अन्य सदस्यों के लिए खाना बनाने और सफाई करने को प्रशंसा के संकेत के रूप में चिह्नित किया गया था।  Mother’s Day कई देशों मे International Woman’s Day के रूप मे 8 March को भी मनाया जाता है ।

America मे सबसे पहले 1870 मे Julia Ward Howe द्वारा उनके द्वारा लिखी पुस्तक “Mother’s Day Proclamation” मे America civil War मे के दौरान युद्ध मे शांति बनाए रखने की अपील की साथ ही उन्होने समाज के राजनीति स्तर पर महिलाओं को विशेष स्थान देने की भी अपील की इसी दौरान सर्वप्रथम Mother’s Day मनाया गया ।

1912 मे Anna Jarvis ने “Second Sunday in May, Mother’s Day” को Trademark बनाया और Mother’s Day International Association की स्थापना की ।

Mother’s Day दुनिया भर मे अगल अलग तारीख मे मनय जाता है Google के अनुसार British परंपरा के मे इसे May के दूसरे और चौथे Sunday को मनाया जाता है ।

बाद में यह Dates कुछ इस तरह बदली कि वि‍भिन्न देशों में प्रचलित धर्मों की देवी के जन्मदिन या पुण्य दिवस को इस रूप में मनाया जाने लगा। जैसे Catholic countries  में Virgin Mary Day और Islamic Countries में पैगंबर मुहम्मद की बेटी फातिमा के जन्मदिन की तारीखों से इस दिन को बदल लिया गया।

अधिकांश देशों में, Mother’s Day हाल ही में पालन की गयी Holidays है जो North America और Europe में विकसित हुई है। जब यह अन्य देशों और संस्कृतियों के द्वारा अपनाया गया था तब इसे दूसरा अर्थ दिया गया, जो अलग घटनाओं (धार्मिक, ऐतिहासिक या पौराणिक) से जुड़े थे और अलग-अलग तारीख या तारीखों पर मनाये जाते थे।

कुछ देशों में पहले से ही मातृत्व का सम्मान करने के लिए समारोह का आयोजन किया जाता था और उन्होंने समारोह का पालन करने के लिए अपनी स्वयं की मां को गुलनार फूल और अन्य उपहार देने के लिए छुट्टियाँ मनाई जाती थी।

इस समारोह को मनाने का अपना-अपना तौर-तरीका हैं। कुछ देशों में अगर Mother’s Day के उपलक्ष्य पर अपनी मां को सम्मानित नहीं किया गया तो यह अपराध माना जाता हैं।

कुछ देशों में, यह एक छोटे से प्रसिद्ध त्योहार के रूप में मनाया जाता हैं, जो अप्रवासियों या मीडिया के अनुसार विदेशी संस्कृति (वैसे ही जैसे कि ब्रिटेन और अमेरिका में दिवाली का त्यौहार) की देन हैं।

International Mother's Day 12th May 2019

Mother’s Day मनाने का धार्मिक प्रथा

Hindu धर्म मे इसे इसे “माता तीर्थ औंशी” या “Mother Pilgrimage fortnight” कहा जाता हैं हिन्दू राष्ट्र जैसे नेपाल मे इसे विशेष रूप से मनाया जाता है । Islam धर्म मे खासकर ईरान मे इस दिन को पैगंबर मोहम्मद की बेटी Fatima Zahar के जन्मदिवस के दिन मनाया जाता है । Catholic धर्म मे ये  Virgin Mary को श्रद्धांजली के रूप मे मनाया जाता है . बौद्ध धर्म मे Mothers Day के उपलक्ष मे Ullambana (उल्लांबना) नाम का Festival मनाया जाता है जिसमे मौदगल्यायन और उसकी माँ को याद किया जाता है

अलग अलग देशों मे किस तारीख मे मनाई जाती है

Mother’s Day Celebrated in Different Countries ,held on different dates. 


भारत (India)

वर्तमान मे भारत मे भी Mother’s Day का चलन हो गया है जो पहले के मुक़ाबले बढ़ा है जो हर साल May के दूसरे Sunday को मनाया जाता है भारतीय इसे किसी Festivals की तरह नहीं मानते लेकिन भारत के शहरी क्षेत्रों मे कुछ राज्यों मे Mother’s Day मनाया जाता है ।

नेपाल (Nepal)

Mata Tirtha Aunsi  “माता तीर्थ औंशी”, जिसका अनुवाद है “मदर पिल्ग्रिमेज फोर्टनाईट” (“Mother Pilgrimage New Moon”) जो बैशाख के महीने के कृष्ण पक्ष में पड़ता हैं। यह त्यौहार अमावस्या के दिन होता है, इसलिए इसे “माता तीर्थ औंशी” कहते हैं। यह शब्द “माता” अर्थात् मां और “तीर्थ” अर्थात् तीर्थयात्रा शब्द से व्युत्पन्न हुआ हैं। यह त्यौहार जीवित और स्वर्गीय माताओं के स्मरणोत्सव और सम्मान में मनाया जाता है, जिसमें जीवित माताओं को उपहार दिया जाता हैं तथा स्वर्गीय माताओं का स्मरण किया जाता हैं। नेपाल की परंपरा में माता तीर्थ की तीर्थयात्रा पर जाना प्रचलित हैं जो काठमांडू घाटी के माता तीर्थ ग्राम विकास समिति की परिधि के पूर्व में स्थित हैं।



इस तीर्थ यात्रा के संबंध में एक किंवदंती हैं। ” प्राचीन समय में भगवान श्री कृष्ण की मां देवकी प्राकृतिक दृश्य देखने के लिए घर से बाहर निकल गयी। उन्होंने कई स्थानों का दौरा किया और घर लौटने में बहुत देर कर दी। भगवान कृष्ण अपनी मां के न लौटने पर दुखी हो गए। वे अपनी मां की तलाश में कई स्थानों पर घूमते रहे परन्तु उन्हें सफलता नहीं मिली। अंत में, जब वह “माता तीर्थ कुंड” पहुंचे तो उन्होंने देखा कि उनकी मां तालाब के फुहार में नहा रही हैं। भगवान कृष्ण अपनी मां को देख कर बहुत खुश हुए और अपनी समस्त शोकपूर्ण घटना जो उनकी माता की अनुपस्थिति में हुई थी उनके आगे कहने लगे। मां देवकी ने कृष्ण भगवान से कहा कि “ओह!बेटा कृष्णा फिर तो इस स्थान को बच्चों की उनकी स्वर्गीय माताओं से मिलने का पवित्र स्थल ही रहने दिया जाये”.तब से यह किंवदंती है कि यह स्थान एक पवित्र तीर्थयात्रा बन गया हैं जहां श्रद्धालु एवं भक्तगण अपनी स्वर्गीय माताओं को श्रद्धा अर्पण करने आते हैं। साथ ही यह भी किंवदंती हैं कि एक भक्त ने अपनी मां की छवि को तालाब में देखा और उसके अंदर गिर कर उसकी मृत्यु हो गई। आज भी वहां एक छोटे से तालाब को चरों तरफ से लोहे की सिकल से बांध दिया गया हैं। पूजा करने के पश्चात तीर्थयात्री वहां पूरे दिन गाने-बजाने का संपूर्ण आनद उठाते हैं। इस किंवदंती को साबित करने का ऐसा कोई भी सबूत नहीं है। ”

Bolivia

central South America मे स्थित ये देश मे Mothers Day 27 मई को मनाया जाता हैं। इसे कोरोनिल्ला युद्ध को स्मरण करने के लिए 8 नवम्बर 1927 को कानून पारित किया गया। यह युद्ध 27 मई 1812 को उस जगह हुआ था जो अब कोचाबाम्बा का शहर कहलाता है। इस लड़ाई में, उन महिलाओं का स्पेनिश सेना द्वारा सरेआम कत्ल कर दिया गया जो देश की आजादी के लिए लड़ रही थी।

China (चीन)

चीन मे Mother’s Day के चलन पूरे दुनिया मे प्रसिद्ध है जिसमे लोग अपनी माँ को Carnations (गुलनार) के फूल उपहार देते है  ये दिन गरीब माताओं के मदद करने के लिए 1997 मे तय की गई थी खासतौर पे ऐसे माताएँ जो ग्रामीण इलाकों मे रहती है ।

हाल ही के कुछ सालों में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य Li Hanqiu ने मातृ दिवस को Meng Mu , जो  Mèng Zǐ की मां थीं, की याद में कानूनी मान्यता देने के लिए हिमायत की और 100 Confucian scholars and lecturers of ethics की मदद से non-governmental organization बनाया जिसका नाम Chinese Mothers’ Festival Promotion Society (चाइनिज मदर फेस्टिवल प्रोमोशन सोसाइटी) है। उन्होंने पश्चिमी उपहार Carnations (गुलनार) के बदले White Lilies देने के लिए कहा जो प्राचीन समय में चीनी महिलाओं द्वारा तब लगाया जाता था जब उनके बच्चे अपना घर छोड़कर जाते थे। अब सिर्फ कुछ छोटे शहरों के अलावा, यह एक अनौपचारिक त्यौहार रह गया है।

थाईलैंड (Thailand)

थाईलैंड में मातृत्व दिवस थाइलैंड की रानी के जन्मदिन पर मनाया जाता है।

रूस (Russia)

यहाँ Public Holiday के रूप मे Mother’s Day 8 मार्च को International Women’s Day के रूप मे मनाया जाता है ।

इस प्रकार ज़्यादातर देशों मे Mother’s Day साल के May महीने मे दूसरे Sunday को मनाया जाता है इस साल 2019 मे भी May के Second Sunday 12 May को मनाया जा रहा है ।

इस Mother’s Day आइये पढ़ते है कुछ कविता Written by Angesh Upadhyay Author of Knowledge Panel

माँ,अक्सर जब दिल रहता है उदास तो अचानक होता है कुछ प्यारा सा एहसास

क्या वो एहसास तुम हो ?

जीवन मे अगर कही भटक जाऊ तो याद आती है माँ की वो बातें

जब वो प्यार से कहती थी – बेटा न करना ऐसा काम की जीवन मे भटकना पड़े

माँ की बात को काट कर उस राह पे चला जाता और अचानक गिर जाता

लेकिन तभी अचानक एक हाथ मेरे कंधे पर आता और पीछे से आवाज आती-

बेटा माना किया था न इधर मत आना ।

क्यूँ किया तूने ऐसे काम क्या तुझे नहीं आया अपनी माँ का ख्याल ,उठ बेटा चल देख तेरी माँ तेरे लिए क्या लाई है ,

तभी माँ अपने आंचल मे छुपा लेती है और कहती है बेटा यहाँ तुझे कुछ नहीं होगा


Happy Mother’s Day to You

Mother’s Day Spacial Article Must Read

Article कैसा लगा हमे Comment Box मे जरूर बताए । हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in.

मेरा नाम अंगेश उपाध्याय है मैं Knowledge Panel का Author और एक Professional Blogger हूँ, इस ब्लॉगिंग वेबसाइट मे आप ब्लॉगिंग ,नई तकनीक, ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके और अन्य कई तरह की जानकारी हिन्दी मे प्राप्त कर सकते है । हमारा मकसद आपको बेहतर जानकारी देना है इसलिए यहाँ आपको वो जानकारी मिलेगी जिसे जानना जरूरी हो ।

Related Posts

gandhi jayanti speech

Mahatma Gandhi Jayanti 2022: Speech for School Children

हम हर वर्ष महात्मा गांधी का जन्मदिवस मनाते है और प्रत्येक वर्ष पूज्य बाबू को याद कर उनके उपदेशों और संदेशों को अपने जीवन मे ढालने का…

Navratri 2022 date, time: Puja vidhi and mantra । Navratri me Fasting Kaise karen

हैलो दोस्तों हम सभी साल के अंतिम पड़ाव मे आ चुके है और इस पड़ाव मे त्योहारों का दौर भी शुरू हो चुका है और इस दौर…

onam

Onam 2022 : Onam Kyu Mnaya Jata hai

पर्व त्योहारों का मौसम शुरू हो चुका है बीते कुछ दिनों मे भारत और भारत के संस्कृति को मानने वाले सभी धर्मों के लोग हर त्योहार बड़े…

chhath puja kyun manaya jata hai

Chhath Puja Kyun Manate Hai Happy Chhath Puja 2022

हैलो दोस्तो वर्ष का अंतिम महिना पर्व त्योहारों से भरा होता है Deshara Diwali,भैया दूज, छठ, Christmas जैसे कई सारे Festivals मे हम सब व्यस्त रहते है…

Festivals in 2022

Aaj Koun sa Festival hai

हैलो Friends अक्सर हम हर महीने होने वाले पर्व त्योहारों की जानकारी Calendar या अन्य तरीकों से जानते है इस आर्टिक्ल के जरिये आप इस वर्ष मे…

International Nurses Day

12th May International Nurses Day Kyun Manate hai । International Nurses Day

नर्स जिसे ईश्वर का दूत और चिकित्सक का दाहिना हाथ कह सकते है क्यूंकि वो नर्स ही है जो निःस्वार्थ भाव से दूसरों के जीवन के लिए…

Leave a Reply