रोटी खाने के फायदे और नुकसान Advantages and disadvantages of Eat bread

Hello Friends अगर आप स्वस्थ है या स्वस्थ रहने के पीछे आपके खान पान का उतना ही योगदान रहता है जितना किसी बच्चे के परवरिश पर उसके माँ बाप का, इसलिए अक्सर किसी मोटे ताजे स्वस्थ व्यक्ति को देख कर आप कहते होंगे की ये तो किसी खाते पीते घर से लगता है और जब आप किसी दुबले और बीमार सा दिखने वाले व्यक्ति को देखते होंगे तो आपके मन मे यही ख्याल आता होगा लगता है इसे खाना नहीं मिलता । तो मतलब साफ है ,एक अच्छा भोजन न सिर्फआपको स्वस्थ रखता है बल्कि आपके व्यक्तित्व पर भी अच्छा प्रभाव बनाए रखता है । इसलिए आज हम बात करेंगे स्वास्थ्य की यानि Health की  और अच्छे स्वास्थ्य के लिए अच्छा खाना भी जरूरी है इसलिए चर्चा का विषय ये भी स्वस्थ भोजन यानि Healthy Food हम बात करेंगे भोजन से जुड़ी एक ऐसे Topic पर जो अक्सर हर घर मे देखने को मिलती है । रोटी यानि chapati जी आज हम बात करेंगे Advantages and disadvantages of Eating bread के बारे मे दोस्तों इस भाग दौड़ भरी जीवन मे हम अक्सर वो काम करते है जो हमे जाने अनजाने मे बीमार करता है और हमे पता भी नहीं चलता । आइये इस बात को बारीकी से समझते है – रोटी खाने के फायदे और नुकसान


रोटी खाने के फायदे और नुकसान

हम सब को Chapati यानि रोटी खाना बेहद पसंद है भारतीय भोजन मे रोटी बड़े चाव से खाया जाता है Fibers ,Protein, Minerals और अन्य कई तरह के Vitamins इसमे मौजूद होते है । गेहूं (Wheat) या अन्य दूसरे Food Item के आटें से रोटी (Chapati) बनाई जाती है इसमे गेहूं के आटें की रोटी हर कोई खाता भी है और पसंद भी करता है,इस आटें को गूँथ कर और बेल कर रोटी बनाई जाती है कभी बिना बेले हाथ से भी रोटी बना कर आग मे सेक कर इसे बनाया जाता है ।

फायदे

  • रोटी बनाने में इस्तेमाल होने वाला आटे में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर में विषैले पदार्थों को बनने से रोकते हैं, जिससे हमारा खून पूरी तरह से शुद्ध हो जाता है इसलिए खून को साफ करने के लिए रोटी बेहद फायदेमंद है यानि रोटी खून की कमी को दूर करता है
  • रोटी में काफी मात्रा में Calcium (कैल्शियम) और Protein (प्रोटीन) पाया जाता है, जो हमारी हड्डियों को मजबूत करता है इसलिए अगर आपको अपनी हड्डी मजबूत करनी है तो रोटी का सेवन नियमित करें जिससे आपको जोड़ो मे दर्द की समस्या भी नहीं रहेगी ।
  • सिंगापुर, मलेशिया और थाईलैंड में रोटी को ब्रेड (Bread) कहा जाता है। हम दिन भर में चाहे कितने ब्रेड, Pizza, Chummin, Burger ही क्यों ना खा लें। लेकिन पेट तो रोटी से ही भरता है ।
  • रोटी मधुमेह यानि Diabetes के रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद है इसके नियमित प्रायप्त मात्रा मे सेवन करने से Sugar Level कंट्रोल रहता है ।
  • रोटी मे फाइबर के मात्रा होती है इसलिए पथरी के इलाज के लिए भी रोटी फायदेमंद है ।
  • रोटी Blood Pressure को भी नियंत्रित रखता है ।
  • गेहूं की एक रोटी में 57 Calories (कैलोरी) होती हैं। रोटी को बिना Ghee (घी) लगाएं खाने से इसमेंCalories (कैलोरी)की मात्रा कम होती हैं और घी लगाने से Calories (कैलोरी) बढ़ती है। इसलिए बिना घी लगाए ही रोटी खाएं। इसमें मौजूद Iron, Calcium,Potassium (पोटैशियम) और सेलेनियम कई बीमारियों को दूर में मददगार हैं।
  • अगर आप बसी रोटी (यानि रात मे बने रोटी को सुबह खाना ) खाते है तो आप सिर्फ रोटी नहीं अमृत खा रहे है यानि बसी रोटी के बेहद चौकने वाले फायदे है । हर दिन सुबह दूध के साथ बसी रोटी खाने से Sugar Level कंट्रोल रहता है ।
  • ठंडे दूध के साथ बासी रोटी खाने से उच्य रक्तचाप (High Blood Pressure) संतुलित रहता है ।
  • ऐसा माना गया है की ताजी रोटी से अधिक पोष्टिक बासी रोटी होती है क्यूंकि इसमे ऐसे बेक्टेरिया होते है जो हमारे सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है ।
  • अगर आप जिम करते है तो आप अपने Trainer से पूछिये वो भी आपको बासी रोटी खाने की सलाह देंगे ।
  • इसलिए अगर आप ये सोच कर बासी रोटी नहीं खाते या फिर उसे फेक देते है तो आज से ये आदत बदल दीजिये क्यूंकि ये Roti आपको सेहतमंद बना सकता है ।

 नुकसान

  • गूँथे हुये आटें की रोटी बिलकुल भी ना खाएं अक्सर हम जल्दबाज़ी मे इस आटें को गूँथ कर फिर्ज मे रख देते है और दूसरे दिन सुबह इसकी रोटी बना कर खाते है अगर आप ऐसा करते है तो ये आपके स्वस्थ पर बुरा असर डाल सकता है ।
  • गूँथे हुये आटें मे Fermentation की प्रक्रिया जल्दी शुरू हो जाती है ऐसे मे इसमे कई तरह के हानिकारक Comical Reaction और Bacteria बनते है जो पेट के लिए नुकसानदेह होता है।
  • सनातन धर्म के शास्त्रो के अनुसार बासी आटा पिंड के समान होता है जिसमे नकारात्मक शक्तियों का समावेश होता है साथ मे यह भी माना जाता है की बासी भोजन भूत प्रेतों का भोजन होता है और अक्सर जिस घर मे बासी भोजन की अधिकता होने लगती है तो नकारात्मक शक्तियाँ घर मे प्रवेश करने लगती है ।
  • जिस घरों मे ऐसी आदतें होती है वहाँ हमेशा कोई न कोई बीमार रहता है,इसलिए भूल के भी fridge(फ्रिज) मे रखी गूँथे हुये आटें की रोटी नहीं बनानी चाहिए ।
  • इसके पीछे वैज्ञानिक कारण भी होती है माना जाता है की गूँथे हुये आटें को जितनी जल्दी हो इस्त्माल कर लेनी चाहिए क्यूंकि इसमे रसायनिक बदलाव बहुत जल्द होने लगते है जो सेहत के लिए नुकसान है।
  • गेहूं का आटा मोटा अनाज होता है यानि इसे Heavy Food मे गिनी जाती है जिसे Digest होने मे वक्त लगता है इसलिए कब्ज के मरीज को रोटी खाने से माना किया जाता है इसलिए रोटी का सेवन अधिक मात्रा मे ना करें
  • अगर आप तीनों समय यानि सुबह दोपहर और रात को रोटी खाते है तो आज अपनी आदत बदल दें क्यूंकि ये आपके शरीर के लिए नुकसान साबित हो सकती है । रोटी मे Carbohydrate (कार्बोहाइड्रेट) की मात्रा अधिक होती है और हर इंसान को हर रोज तकरीबन 25 ग्राम Carbohydrate चाहिए लेकिन अगर आप तीनों वक्त रोटी खाते है तो आपको हर रोज 400 ग्राम Carbohydrate मिलेगी जो नुकसानदेह होगा । अधिक कार्बोहाइड्रेट शरीर मे Fat बनती है और इंसान का वजन बढ़ता है हालांकि आप अगर नियमित Exercise करते है तो वजन बढ्ने की संभावना कम होगी ।  

अब आप समझ गए होंगे की रोटी हमारे लिए कब कैसे और कैसे नुकसानदेह है लेकिन इतना साफ है की रोटी (Chapati) सेहत के लिए नुकसानदेह तब होगा जब आप इसका अनियमित सेवन करेंगे लेकिन अगर इसे नियमित और सीमित मात्रा मे लिया जाए तो ये बेहद फायदेमंद है ।

इसे भी पढ़ें

हमे उम्मीद है बताई गई जानकारी आपके लिए बेहतर और Helpful होगी ऐसे ही Knowledgeable और Interesting Hindi Article पढ़ने के लिए Visit करे www.knowledgepanel.in
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x